Urdu terms used in land revenue records in India

Revenue Vocabulary:

Revenue records of agricultural lands were first formalized during the Mughal rule under the King Akbar. His revenue minister Raja Man Singh is said to have created the system of accounting of agricultural land in India and till date the same system of book keeping of agricultural records is maintained. While the most records have switched to writing in Hindi but the record keepers still use Urdu words to describe various facts. These are the frequent words and phrases used in the Revenue records:

राजस्व भाषा:

1 आबादी देह→ गॉंव का बसा हुआ क्षेत्र ।

2 मौजा→ ग्राम

3 हदबस्त →त्हसील में गॉंव का सिलसिलावार नम्बर ।

4 मौजा बेचिराग →बिना आबादी का गॉंव ।

5 मिसल हकीयत→ बन्दोबस्त के समय विस्तारपूर्वक तैयार की गई जमाबन्दी ।

6 जमाबन्दी→ भूमि की मलकियत व बोने के अधिकारों की पुस्तक ।

7 इन्तकाल →मलकियत की तबदीली का आदेश ।

8 खसरा गिरदावरी→ खातेवार मलकियत,बोने व लगान का रजिस्टर ।

9 लाल किताब →गॉंव की भूमि से सम्बन्धित पूर्ण जानकारी देने वाली पुस्तक ।

11 शजरा नसब→ भूमिदारों की वंशावली ।

12 पैमाईश →भूमि का नापना ।

13 गज →भूमि नापने का पैमाना ।

14 अडडा →जरीब की पडताल करने के लिए भूमि पर बनाया गया माप ।

15 जरीब →भूमि नापने की 10 कर्म लम्बी लोहे की जंजीर ।

16 गठठा →57.157 ईंच जरीब का दसवां भाग ।

17 क्रम →66 ईंच लम्बा जरीब का दसवां भाग ।

18 क््रास →लम्ब डालने के लिए लकडी का यन्त्र ।

19 झण्डी →लाईन की सीधाई के लिए 12 फुट का बांस ।

20 फरेरा→ दूर से झण्डी देखने के लिए बांस पर बंधा तिकोना रंग बिरंगा कपडा ।

21 सूए →पैमाईश के लिए एक फुट सरिया ।

22 पैमाना पीतल →म्सावी बनाने के लिए पीतल का बना हुआ ईंच ।

23 म्ुसावी→ मोटे कागज पर खेतों की सीमायें दर्शाने वाला नक्शा ।

24 शजरा→ खेतों की सीमायें दिखाने वाला नक्शा ।

25 शजरा किस्तवार→ टरैसिंग क्लाथ या टरैसिंग पेपर पर बना हुआ खेतों का नक्शा

26 शजरा पार्चा→ कपउे पर बना खेतों का नक्शा ।

27 अक्स शजरा →शजरे की नकल (प्रति)

28 फिल्ड बुक →खेतों के क्षेत्रफल की विवरण पुस्तिका ।

29 बीघा →40ग40 वर्ग करम त्र4 बीघे का खेत ।

30 मुरब्बा→ 25 किलों की समूह यानि 200 कनाल

31 मुस्ततील→ 25 एकड का समूह यानि 200 कनाल

32 इस्तखराज →नम्बर की चारों भुजाओं की लम्बाई व चौडाई क्षेत्रफल निकालना

33 रकबा→ खेत का क्षेत्रफल

34 किस्म जमीन →भूमि की किस्म

35 जमीन सफावार →खेतों का पृष्ठवार जोड

36 थ्मजान खातावार →जेतवार जोड

37 मिजान कुलदेह→ गॉंव के कुल क्षेत्रफल का जोड

38 जोड किस्मवार →गॉंव की भूमि का किस्मवार जोड

39 गोशा →खेत का हिस्सा

40 त्तीमा →खेत का बांटा गया भाग

41 व्तर →कर्ण

42 बिसवांसी →57.157 ईंच कर्म का वर्ग

43 बिसवा→ 20 बिसवांसी

44 बिघा →20 बिसवा

45 म्रला →9 सरसाही बारबर 30-1@4 वर्ग गज त्र1@20

46 क्नाल →20 मरले 605त्र वर्ग गज त्र1@8 एकड

47 एकड →एक किला (40 करमग 36 करम) 4 बीघे- 16 बिसवेत्र(4840 वर्ग गज)

49 शर्क →पूर्व

50 गर्व→ प्श्चिम

51 जनूब→ दक्षिण

52 शुमाल→ उत्तर

53 खेवट→ मलकियत का विवरण

54 खतौनी→ कशतकार का विवरण

55 पत्ती तरफ ठोला→ गॉंव में मालकों का समूह

56 गिरदावर(कानूनगो)→ पटवारी के कार्य का निरीक्षण करने वाला

57 दफतर कानूनगो →तहसील कार्यालय का कानूनगो

58 नायब दफतर कानूनगो→ सहायक दफतर कानूनगो

60 सदर कानूनगो→ जिला कार्यालय का कानूनगो ।

61 वासल वाकी नवीस→

राजस्व विभाग की वसूली का लेखा रखने वाला कर्मचारी

62 मालिक→ भूमि का भू-स्वामी

63 कास्तकार→ भूमि को जोतने वाला एवं कास्त करने वाला ।

64 मालक कब्जा →मालिक जिसका शामलात में हिस्सा न हो ।

65 मालक कामिल→ मालिक जिसका शामलात में हिस्सा हो

66 शामलात →सांझाी भूमि

67 शामलात देह→ गॉंव की शामलात भूमि

68 शामलात पाना →पाने की शामलात भूमि

69 शामलात पत्ती →पत्ती की शामलात भूमि

70 शामलात ठौला →ठोले की शामलात भूमि

71 मुजारा→ भूमि को जोतने वाला जो मालिक को लगान देता हो ।

72 मौरूसी →बेदखल न होने वाला व लगान देने वाला मुजारा

73 गैर मौरूसी →बेदखल होने योग्य कास्तकार

74 छोहलीदार →जिसको भूमि दान दी जावे ।

76 नहरी →नहर के पानी से सिंचित भूमि ।

77 चाही नहरी→ नहर व कुएं द्वारा सिंचित भूमि

78 चाही →क्ुएं द्वारा सिंचित भूमि

79 चाही मुस्तार →खरीदे हुए पानी द्वारा सिंचित भूमि ।

80 बरानी→ वर्षा पर निर्भर भूमि ।

81 आबी →नहर व कुएंे के अलावा अन्य साधनों से सिंचित भूमि ।

82 बंजर जदीद→ चार फसलों तक खाली भूमि ।

83 बंजर कदीम →आठ फसलों तक खाली पडी भूमि ।

84 गैर मुमकिन →कास्त के अयोग्य भूमि ।

85 नौतौड→ कास्त अयोग्य भूमि को कास्त योग्य बनाना ।

86 क्लर →शोरा या खार युक्त भूमि ।

87 चकौता →नकद लगान ।

88 सालाना →वार्षिक

90 बटाई →पैदावार का भाग ।

91 तिहाई →पैदावार का 1@3 भाग ।

92 निसफी→ पैदावार का 1@2 भाग ।

93 पंज दुवंजी→ पैदावार का 2@5 भाग ।

94 चहाराम →पैदावार का 1@4 भाग ।

95 तीन चहाराम→ पैदावार का 3@4 भाग ।

97 मुन्द्रजा→ पूर्वलिखित (उपरोक्त)

98 मजकूर→ चालू

99 राहिन →गिरवी देने वाला ।

100 मुर्तहिन →गिरवी लेने वाला ।

101 बाया →भूमि बेचने वाला ।

102 मुस्तरी →भूमि खरीदने वाला ।

103 वाहिब →उपहार देने वाला ।

104 मौहबईला →उपहार लेने वाला ।

105 देहिन्दा→ देने वाला ।

106 गेरिन्दा →लेने वाला ।

107 लगान→ मुजारे से मालिक को मिलने वाली राशी या जिंस

108 पैमाना हकीयत →शामलात भूमि में मालिक का अधिकारी ।

109 सरवर्क →आरम्भिक पृष्ठ ।

110 इण्डैक्स→ पृष्ठ वार सूची ।

115 नक्शा कमीबेशी →पिछली जमाबन्दी के मुकाबले में क्षेत्रफल की कमी या वृद्वि

118 वाजिबुलअर्ज→ ग््रामवासियों के ग्राम सम्बन्धी रस्में रीति रिवाज ।

119 थ्वरासत→ उत्तराधिकार ।

121 मुतवफी →मृत्क

122 हिब्बा →उपहार ।

123 बैयहकशुफा →भूमि खरीदने का न्यायालय द्वारा अधिकार ।

124 श्रहन बाकब्जा →कब्जे सहित गिरवी ।

125 आड रहन →बिला कब्जा गिरवी ।

127 रहन दर रहन →मुर्तहिन द्वारा कम राशि में गिरवी रखना ।

128 सैंकिण्ड रहन →राहिन द्वारा मुर्तहिन के ईलावा किसी अन्य के पास गिरवी रखना ।

129 फकुल रहन →गिरवी रखी भूमि को छुडा लेना ।

133 तबादला →भूमि के बदले भूमि लेना ।

134 बैय →जमीन बेच देना

138 पडत सरकार →राजस्व रिकार्ड रूम में रखी जाने वाली प्रति ।

139 पडत पटवार→ रिकार्ड की पटवारी के पास रखी जाने वाली प्रति ।

140 मुसन्ना→ असल रिकार्ड के स्थान पर बनाया जाने वाला रिकार्ड ।

141 फर्द →नकल

142 फर्द बदर →राजस्व रिकार्ड में हुई गलती को ठीक करना ।

143 मिन →भाग

144 गिरदावरी →खेतों का फसलवार निरीक्षण ।

145 जिंसवार →फसलवार जिंसों का जोड

147 फसल खरीफ →सावनी की फसल

148 खराबा→ प््रााकृिितक आपदा से खराब हुई फसल ।

149 फसल रबी→ आसाढी की फसल ।

150 पुख्ता औसत झाड→ पैदावार के अनुसार पक्की फसल

151 साबिक→ भूतपूर्व, पूर्व,पुराना ।

152 हाल →वर्तमान, मौजूदा ।

153 बदस्तूर →जैसे का तैसा(पूर्ववत)

154 तकावी →फसल ऋण ।

155 कुर्की →अटैचमैन्ट

156 दसतक →राईट आफ डिमाण्ड

157 नीलाम →खुली बोली द्वारा बेचना ।

158 बिला हिस्सा →जिसमें भाग न हो ।

159 मिन जानिब →की ओर से ।

160 बनाम→ के नाम ।

161 जलसाआम →जनसभा ।

162 बशनाखत →की पहचान पर ।

163 पिसर या वल्द →पुत्र

164 दुखतर→ सुपुत्री

165 वालिद→ पिता

166 वालदा →माता

167 बेवा →विधवा

168 वल्दीयत →पिता का नाम

169 हमशीरा→ बहन

172 हद→ सीमा

173 हदूद→ सीमायें

174 सेहहदा →तीन गॉंवों की एक स्थान पर मिलने वाली सीमाओं पर पत्थर

175 बखाना कास्त →कास्त के खाने में दर्ज ।

176 सकूनत→ निवास स्थान

177 महकूकी →काटकर दोबारा लिखना

178 मसकूकी →बिना काटे पहले लेख पर दोबारा लिखना

179 बुरजी→ सरवेरी सर्वेक्षण का पत्थर

180 चक तशखीश →बन्दोबस्त के दौरान भूमि की पैदावार के अनुसार तहसील की भूमि का निरधारण

181 दो फसली →वर्ष में दो फसलें उत्पन्न करने वाली भूमि

183 मेण्ड →खेत की सीमा

184 गोरा देह भूमि →गॉंव के साथ लगती भूमि

185 हकदार→ मालिक भूमि

186 इकरारनामा →आपसी फैसला

190 खुशहैसियत अ→च्छी हालत

191 महाल →ग्राम

192 कलां →बडा

193 खुर्द →छोटा

194 जदीद →नया

195 मालगुजारी →भूमिकर

196 तरमीम→ बदल देना

197 गोत→ वंश का गोत्र

198 जमां →भूमि कर

199 झलार →नदी नाले से पानी देने का साधन

201 कारगुजारी →प्रगति रिपोर्ट

202 खाका →प्रारूप

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s